एकाग्रता कैसे बढ़ाएँ

मधुर माँ, 

हम मन की एकाग्रता और इच्छा-शक्त को कैसे बढ़ा सकते हैं ? कुछ भी करने के लिए वे बहुत ज़रूरी हैं। 

नियमित, अध्यवसायपूर्ण,आग्रही, अथक अभ्यास द्वारा – मेरा मतलब है, एकाग्रता और इच्छा-शक्ति के अभ्यास द्वारा।

संदर्भ : श्रीमातृवाणी (खण्ड – १६)

 

प्रातिक्रिया दे