अप्रसन्नता

जिस क्षण तुम दुःख अनुभव करने लगो उसी क्षण तुम उसके नीचे लिख सकते हो, “मैं सच्चा नहीं हूँ।” ये दो वाक्य साथ साथ चलते है

“मैं दुःखी हूँ।”

“मैं सच्चा नहीं हूँ।”

संदर्भ : प्रश्न और उत्तर १९५४

 

प्रातिक्रिया दे