समान कार्य

चैत्य पुरुष उन सबके लिए,जो आध्यात्मिक मार्ग के लिए बनें हैं, समान कार्य करता है – योग का अनुगमन करने के लिए लोगों को असाधारण होने की आवश्यकता नहीं है। तुम यही भूल कर रहे हो – महानता का राग अलापने की, मानों केवल महान व्यक्ति ही आध्यात्मिक हो सकता है ।

संदर्भ : श्रीअरविंद के पत्र (भाग -२)

प्रातिक्रिया दे