जीवन उत्सव

यदि सचमुच में हम, ठीक से जान सकें जीवन के उत्सव के हर विवरण को, भौतिक जीवन में प्रभु की पूजा को, तो यह आश्चर्य पूर्ण रूप से सुंदर होगा – जानना और पुनः भूल न करना, कभी भी फिर गलती न करना, उत्सव क्रिया को इतनी उत्तमता से करना जैसे यह एक दीक्षा हो।

संदर्भ : श्रीमाँ का एजेंडा

प्रातिक्रिया दे