बेचैनी से बाहर निकालने का उपाय

हर बार जब तुम बेचैन होओ तो तुम्हें दोहराना चाहिये – बाह्य ध्वनि के बिना अपने भीतर बोलते हुए और साथ-साथ मेरा स्मरण करते हुए :

“शांति, शांति, मेरे हृदय।”

यह नियमित रूप से करो और इसके परिणाम से तुम प्रसन्न होगे।

संदर्भ : श्रीमातृवाणी (खण्ड-१६)

प्रातिक्रिया दे