योग का अर्थ

योग का अर्थ संयुक्त होना है तथा योग का सम्पूर्ण लक्ष्य मानव आत्मा की सर्वोच्च सत्ता के साथ तथा मानवता की वर्तमान प्रकृति की सनातन, सर्वोच्च अथवा दिव्य प्रकृति के साथ ऐक्य या मिलन है।

संदर्भ : श्रीअरविंद (खण्ड-१२)

प्रातिक्रिया दे