दिव्य माँ का धरती पर कार्य

केवल एक ही चीज़ है जिसके बारे में मुझे पूरा विश्वास है, और वह है, मैं कौन हूँ। श्रीअरविंद भी यह जानते थे और उन्होने इसकी घोषणा की थी। समस्त मानवजाति के संदेह इस तथ्य में कुछ न बदल सकेंगे।

संदर्भ : माताजी के वचन (भाग-१)

प्रातिक्रिया दे