मार्ग की कठिनाइयाँ

जो भी पूर्णता के मार्ग पर बढ़ना चाहता है उसे मार्ग में आने वाली कठिनाइयों के बारे में कभी शिकायत न करनी चाहिये, क्योंकि हर कठिनाई नयी प्रगति के लिये अवसर होती है। उसके बारे में शिकायत करना दुर्बलता और कपट का चिन्ह है ।

संदर्भ : माताजी के वचन (भाग-२)

प्रातिक्रिया दे