शाश्वत की अभिव्यक्ति

शाश्वत शांति और नीरवता में प्रकट होते हैं, किसी चीज़ से तुम अपने-आपको क्षुब्ध न होने दो तो शाश्वत अभिवक्त होंगे । सभी के लिए पूर्ण समानता रखो तो शाश्वत उपस्थित होंगे…।

संदर्भ : प्रार्थना और ध्यान 

प्रातिक्रिया दे