भगवान की ओर

भगवान् भले ही तुम्हारी ओर झुक आयें परन्तु ‘उन्हें ‘ ठीक तरह समझने के लिए तुम्हें ‘उन’ तक उठना होगा ।

संदर्भ : माताजी के वचन (भाग -२)

प्रातिक्रिया दे