अब क्या होने-वाला है?

हम इस समय फिर एक बार पृथ्वी के इतिहास में एक निर्णायक मोड़ पर हैं । सब ओर से लोग मुझसे पूछ रहे हैं : ”अब क्या होने-वाला है? ” हर जगह तीव्र व्यथा, प्रतीक्षा, भय की स्थिति है । ”अब क्या होनेवाला है? ” … इसका उत्तर, बस, एक ही है : ”यदि मानव आध्यात्मिक होने के लिये बस, तैयार हो जाये।”

संदर्भ : प्रश्न और उत्तर (१९५७-१९५८)

प्रातिक्रिया दे