श्रीअरविंद की उपस्थिति

श्रीअरविन्द निरन्तर हमारे साथ हैं और जो लोग उन्हें देखने और सुनने के लिए तैयार हैं उनके आगे अपने- आपको प्रकट करते हैं ।

संदर्भ : माताजी के वचन (भाग – १) 

प्रातिक्रिया दे