प्रतीक्षा करो

ठहरो और प्रतीक्षा करो । परिणाम निश्चित है-लेकिन मार्ग और समय अनिश्चित हैं ।

संदर्भ : माताजी के वचन (भाग – १) 

प्रातिक्रिया दे