निश्चित मार्ग

एक ऐसी सच्चाई जो समझौता नहीं करतीं, आध्यात्मिक उपलपब्धि का सबसे निश्चित मार्ग है ।

ढोंग न करो, हो जाओ ।

वचन मत दो, क्रिया करो ।

स्वप्न न देखो, चरितार्थ करो ।

संदर्भ : माताजी के वचन (भाग-२)

प्रातिक्रिया दे