एक अनिवार्य अनुशासन

यही कभी न भूलो कि मैं झगड़ों को पसंद नहीं करती और दोनों ही पक्षों को समान रूप से गलत मानती हूँ । यहाँ अपनी भावनाओ , पसंदों, नापसंदों और आवेशों पर विजय पाना एक अनिवार्य अनुशासन है ।

संदर्भ : माताजी के वचन (भाग-२)

प्रातिक्रिया दे