नीरवता के कुछ क्षण

‘तेरे’ आगे नीरवता में बीते कुछ क्षण आनंद की शताब्दियों के बराबर हैं। …

ओह ! कितना मधुर है नीरवता में ‘तेरे’ आगे उपस्थित रहना । …

संदर्भ : प्रार्थना और ध्यान 

प्रातिक्रिया दे