संकट का सामना

जब कभी, अपने जीवन में तुम्हें संकट का सामना करना पड़े तो उसे प्रभु की कृपा के वरदान के रूप में लो और वह वही बन जायेगा |

सन्दर्भ : माताजी के वचन (भाग – २) 

प्रातिक्रिया दे