बाहर निकलो 

  • ​सच्ची बुद्धि पाने के लिए अपने मन से बाहर निकलो । 
  • सच्ची अनुभूति पाने के लिए संवेदनों से बाहर निकलो ।
  • सच्ची क्रियाशीलता पाने के लिए अपनी भावुकता से बाहर निकलो ।

सन्दर्भ : माताजी के वचन (भाग २)

प्रातिक्रिया दे